ताजा खबर
बघेल का जेल में सत्याग्रह शुरू ! मायावती के फैसले से पस्त पड़ी भाजपा बमबम ! दशहरे के व्यंजन एक यात्रा खारपुनाथ की
अतीक पर निभर है भाजपा की उम्मीद

इलाहाबाद .उत्तर प्रदेश में 11 मार्च को लोकसभा की दो सीटों पर उपचुनाव होना है. एक गोरखपुर और  दूसरा फूलपुर. गोरखपुर की सीट यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी अादित्यनाथ ने खाली की जबकि फूलपुर उप मुख्यमंत्री बने केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई.फूलपुर के उपचुनाव को मौर्य की प्रतिष्ठा का मुद्दा माना जा रहा है. विपक्ष की ओर  से समाजवादी पार्टी और   कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं. पर बसपा ने उपचुनावों में उम्मीदवार न उतारने की अपनी पुरानी रणनीति के तहत किसी को नहीं खड़ा किया है .पर निर्दलीय उम्मीदवार और बाहुबली अतीक अहमद ने इस चुनाव में उतर कर मुकाबला दिलचस्प बना दिया है .वे समाजवादी पार्टी से उम्मीदवार बनना चाहते थे पर अखिलेश यादव उन्हें पार्टी में लेने को तैयार नहीं हुए .पर राजनैतिक टीकाकार मानते हैं कि भाजपा ने इस मामले में अपना प्रबंधन कौशल दिखाते हुए अतीक अहमद को सामने किया है . अल्पसंख्यकों पर अतीक अहमद का असर है और अगर मुस्लिम वोट बंटा तो भाजपा के जीतने की उम्मीद बढ़ जाएगी .यह बात अलग है कि मुस्लिम हर बार उसी सेकुलर पार्टी को वोट देता है जो जीत रही हो .इसलिए अभी भी दुविधा की स्थिति बनी हुई है .

 
सपा ने फूलपुर से नागेंद्र सिंह पटेल को प्रत्याशी बनाया है. भाजपा  की ओर से यहां कौशलेंद्र सिंह पटेल उम्मीदवार हैं जबकि कांग्रेस ने मनीष मिश्र को टिकट दिया है. कुर्मी बिरादरी के वोटों की बड़ी तादाद होने के कारण भाजपा और सपा  ने यहां इसी जाति का उम्मीदवार उतारा है जबकि ब्राह्मण वोट भी अच्छी तादाद में होने को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने इस बिरादरी से प्रत्याशी बनाया है.  
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
Post your comments
Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.