ताजा खबर
जाना सुनील शाह का आसान नहीं है भूकंप की भविष्यवाणी इस हिमालय को कैसे देखे इधर के पच्चीस साल
Election
उत्तर भारत पूर्वोत्तर भारत दक्षिण भारत
जाना सुनील शाह का
जाना

संजय कुमार सिंह 
यकीन नहीं हो रहा है कि सुनील शाह नहीं रहे। मैं 20 से 24 अप्रैल तक दिल्ली में नहीं था। लौटकर आया तो पता चला कि जनसत्ता में मित्र रहे सुनील शा    विस्तृत....

इस हिमालय को कैसे देखे
इस

अंबरीश कुमार
 नेपाल में आए भूकंप के बाद लोगों को दो साल पहले की केदारनाथ त्रासदी की याद आ गई। हालांकि, इन दोनों त्रासदियों की प्रकृति अलग किस्म की है, लेकिन दोनों ही हिमालय के क्षेत्र में हुई हैं और दोनों का ही इशारा इस ओर है कि हिमालय को लेकर अब हमें गंभीर हो जा  विस्तृत....

जनादेश-2014
आसान नहीं है भूकंप की भविष्यवाणी
आसान

 कृष्ण गोपाल व्यास

. नेपाल के हालिया भूकम्प को पिछले 81 साल के नेपाली इतिहास का सबसे अधिक विनाशकारी भूकम्प माना गया है। इस भूकम्प ने  विस्तृत....
माकपा की जैसी करनी वैसी भरनी
माकपा

पीयूष श्रीवास्तव 
नई दिल्ली ।मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पूर्व महासचिव प्रकाश करात ने अतीत में जो बोया, आज वो उसे ही काट रहे हैं। एक समय कांग्रेस और तथाकथित सांप्रदायिक पार्टी भाजपा के विरुद्ध समाजव  विस्तृत....

तराई मेँ फिर चलेगा नदी अभियान
तराई

रामेँद्र जनवार 
उत्‍तर प्रदेश का तराई क्षेत्र पीलीभीत से लेकर कुशीनगर तक फैला हुआ है । यह क्षेत्र वनाच्‍छादित भी रहा है और यहाँ नदियोँ का भी जाल बिछा हुआ है ।नेपाल सीमा से सटा होने और नेपाल के मि  विस्तृत....

कही गायब न हो जाए चहचाहट
कही

इएम मनोज 

ऊटी । आगे वाली पीढ़ियों के लिए एक सपने जैसा होगा पक्षियों की चहचाहट से सुबह की नींद का खुलना। पक्षियों के विलुप्तीकरण का क्रम लगातार जारी है। सरकार के अथक प्रयासों के बावजूद भी इस दशा में कोई सुधार नही है। अभ  विस्तृत....

लोक संवारने का प्रयास लोकरंग
लोक

 कुशीनगर ।जिले के जोगिया जनूबी पट्टी गांव में हर वर्ष आयोजित होने वाला लोकरंग कार्यक्रम  का दो दिवसीय समारोह 12 और 13 अप्रैल को आयोजित हुआ। यह आयोजन का आठवा वर्ष था। इस बार का आयोजन असहयोग आंदोलन के दौरान अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंकने वाले क  विस्तृत....

कर्नाटक के कोलार में सूखा
कर्नाटक

बंगलुरु।  बंगलुरु के ग्रामीण ,कोलार और चिक्कबल्लापुर ज़िले स्थायी सूखे की चपेट में आते दिख रहे है।जीवन का आधार कहा जाने वाला जल ही मौत का सबब बनता नज़र आ रहा है। जहां एक ओर असमय हुई बारिश ने सैकड़ो किसानों की जान ली है वही दूसरी ओर सूखे की स्थिति भी जानलेवा साबित हो  विस्तृत....

बांध विरोध पर गोली चलाई
बांध

सोनभद्र। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में कनहर  बांध  पर गैर कानूनी ढंग से किए  जा रहे जमीन अधिग्रहण का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारी ग्रामीण जनों पर पुलिस ने आज 14 अप्रैल अम्बेडकर जयंती के दिन गोली बरसाना शुरू कर दिया। सुन्दरी गाँव के एक आदिवासी नेता अक  विस्तृत....

पर्यावरण
संकट का संकेत है चैत में यह सावन
संकट

अंबरीश कुमार 

कुछ साल पहले तक ग्रामीण अंचल को छोड़कर भी सावन का बहुत बेसब्री से इंतजार होता था ।इस सावन पर फिल्मे बनती रही और गीत गूं  विस्तृत....
पर्यटन
गांव ,किसान और जंगल
गांव
अंबरीश कुमार 
लगातार यात्रा के चलते लिखना कम हो पा रहा है । कल लौटे और कल मुंबई के लिए निकलना है  विस्तृत....
कला/सिनेमा
नौटंकी की मलिका गुलाबबाई
नौटंकी

हिमांशु बाजपेयी

कोई भी ईमानदार आकलन इस बात से इंकार नहीं कर सकता कि नौटंकी की मलिका कही जाने वाली पद्मश्री गुलाब  विस्तृत....
राजनीति
बुधुआ के घर में त्यौहार
बुधुआ

शिप्रा शुक्ला 

तमिलनाडु। आज बुधुआ के घर में त्यौहार जैसा माहोल है, ये उसका असली नाम नहीं, जाहिर है तमि  विस्तृत....
Onlinenewspapers - the worlds 

largest online newspaper directory
Copyright @ 2008-09 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.