अनिश्चितकालीन हड़ताल करने का ऐलान

समाजवादी फिर सड़क पर उतरेंगे मोदी के जन्मदिन पर व्याख्यान माला असाधारण प्रतिभावान सोफिया लॉरेन ! खाने में स्वाद, रंगत और खुशबू ! प्रधानमंत्री ने महत्वपूर्ण योजनाओं का किया शुभारंभ चर्चा यूपी की पालटिक्स पर ऐसा बनकर तैयार होता समाहरणालय पालतू बनाना छोड़ें, तभी रुकेगी वन्यजीवों की तस्करी बाजार की हिंदी और हिंदी का बाजार उपचुनाव की तैयारियों में जुटने का निर्देश काशी मथुरा ,मंदिर की राजनीति की वापसी टीके जोशी भी अलविदा कर गए देश की राजनीति को बदल सकता है किसानों का आंदोलन कहीं हाथ से कुर्सी भी बह न जाए? जवान भी खिलाफ , किसान भी खिलाफ गूगल प्ले स्टोर से हटा पेटीएम का ऐप्लीकेशन हमाम में सभी नंगे हैं और नंगा नंगे को क्या नंगा करेगा! इंडिया शाइनिंग और फील गुड का असली चेहरा कार्पोरेट घरानों के दखल के अंदेशे से किसानों में उबाल दलित अकादमी - ममता ने प्रतिरोध की आवाज को दी मान्यता

अनिश्चितकालीन हड़ताल करने का ऐलान

आलोक कुमार

पटना. यह पटना एम्स है.यहां पर अपनी मांग को लेकर नर्सिंग स्टाफ हड़ताल की थीं.कुछ मुद्धों पर एम्स अधिकारियों ने सहमति जतायी थी.25 जुलाई को एम्स अधिकारी और हड़ताली नर्सिंग स्टाफ के बीच बिन समझौता और बिन आश्वासन के ही नर्सिंग स्टाफ को हड़ताल तोड़ काम पर लौटने को मजबूर होना पड़ा. नर्सिंग स्टाफ के काम पर लौटने के बाद एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने 13 अगस्त तक का अल्टीमेटम दिया है.

बिहार में एक तरफ कोरोना महामारी और दूसरी ओर बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है, वहीं दोहरी संकट की इस घड़ी में बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पटना एम्स के डॉक्टरों अनिश्चितकालीन हड़ताल करने का ऐलान कर रखा हैं.

पटना एम्स के डॉक्टरों ने 14 अगस्त से अनिश्चितकालीन  हड़ताल पर जाने का 13 अगस्त तक का अल्टीमेटम दिया है. एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने इस बारे में एम्स प्रबंधन को जानकारी दे दी है.साथ ही उन्होंने अपनी मांगें पूरी करने के लिए 13 अगस्त तक का अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने कहा कि अगर 13 अगस्त तक उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह 14 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे.

बिहार सरकार द्वारा घोषित योजना में यदि किसी स्वास्थ्यकर्मी की मौत कोरोना संक्रमण से होती है तो उसके परिजन को नौकरी या पेंशन का प्रावधान किया गया है। इस योजना से एम्स पटना के स्वास्थ्य कर्मियों को दूर रखा गया है.21 डॉक्टरों का सीनियर रेजिडेंसी का कार्यकाल अधूरा रह जाएगा.एम्स पटना के स्वास्थ्यकर्मियों को भी बिहार सरकार की योजना का लाभ दिया जाए.पटना एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने प्रबंधन को अल्टीमेटम दिया है कि उनकी मांगों पर अगर 13 अगस्त तक फैसला नहीं किया गया तो 14 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे. एसोसिएशन ने एम्स डायरेक्टर को लिखा है कि हमारी मांगों को तत्काल माना जाए.

क्या है मांग?

एसोसिएशन के प्रेसिडेंट डॉक्टर विनय कुमार ने कहा कि बिहार सरकार ने एम्स पटना में वर्तमान में कार्यरत 21 सीनियर रेजिडेंट को विशेषज्ञ चिकित्सा पदाधिकारी के रूप में तीन माह के लिए एम्स पटना में प्रतिनियुक्त कर दी है. इसके चलते यहां कार्यरत 21 डॉक्टरों का सीनियर रेजिडेंसी का कार्यकाल अधूरा रह जाएगा. भविष्य में इसके चलते परेशानियों का सामना करना पर सकता है.
बिहार सरकार के राज्य के विभिन्न चिकित्सा महाविद्यालय के सीनियर रेजिडेंट को उसका रेजिडेंसी पूरा करने की छूट दी गई है.एम्स पटना को भी यह छूट दी जाए.एम्स पटना के 21 सीनियर रेजिडेंट की पोस्टिंग स्पेशलिस्ट मेडिकल ऑफिसर के रूप में एम्स पटना में की गई है, इस नोटिस को अविलंब निरस्त किया जाए.
बिहार सरकार द्वारा घोषित योजना में यदि किसी स्वास्थ्यकर्मी की मौत कोरोना संक्रमण से होती है तो उसके परिजन को नौकरी या पेंशन का प्रावधान किया गया है. इस योजना से एम्स पटना के स्वास्थ्य कर्मियों को दूर रखा गया है. एम्स पटना में बिहार के कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है. यहां काम करने वाले ज्यादातर डॉक्टर बिहार के हैं.इसलिए एम्स पटना के स्वास्थ्यकर्मियों को भी बिहार सरकार की योजना का लाभ दिया जाए.

कोरोना वारियर्स के तौर पर 24 घंटे किया काम 

वहीं डॉक्टर्स एसोसिएशन ने कहा कि उन्हें कोरोना महामारी की स्थिति और इसकी भयावहता के बारे में अच्छी तरह से अनुभव है. कोरोना वारियर्स के तौर पर उन्होंने लगातार 24 घंटे काम किया है लेकिन उनकी तैनाती को लेकर जो नया फैसला लिया गया है, वह उन्हें कभी भी मंजूर नहीं है.अस्पताल प्रशासन के इस फैसले का कर रहे विरोध.बता दें कि एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स अस्पताल प्रशासन के उस फैसले का विरोध कर रहे हैं, जिसमें यह कहा गया है कि एम्स के डॉक्टरों को राज्य के किसी भी मेडिकल कॉलेज में तैनात किया जा सकता है.

  • |

Comments

यह कहा गया है कि एम्स के डॉक्टरों को राज्य के किसी भी मेडिकल कॉलेज में तैनात किया जा सकता है.

Replied by ixen.anay@gmail.com at 2020-08-13 05:28:52

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :