ताजा खबर
साफ़ हवा के लिए बने कानून नेहरू से कौन डरता है? चालीस साल पुराना मुकदमा ,और गवाह स्वर्गवासी चार दशक बाद समाजवादी चंचल फिर जेल में
काशी में बेटियों पर लाठी, गोली !
वाराणसी .बनारस हिंदू विश्विद्यालय ( बीएचयू ) परिसर में आंदोलन कर रही छात्र छात्राओं पर लाठी चार्ज किया गया गया है,आंसू गैस के साथ रबर की गोलियां भी चलाई गई हैं .लाठीचार्ज से दर्जन भर छात्र छात्राएं घयाल हुए  है .लाठीचार्ज देर रात हुआ और कलेक्टर एसपी की मौजूदगी में हुआ .लाठीचार्ज के बाद छात्र छात्राएं भीतर की तरफ दौड़े तो उन्हें दौड़ा दौड़ा का पीटा गया . लड़कियां भागीं महिला महाविद्यालय के अंदर तो कुछ लोगों ने महिला महाविद्यालय का दरवाजा भी तोड़ दिया. अब पुलिस महिला महाविद्यालय के अंदर भी घुस गयी. लड़कियों को दौड़ाकर पीटा. भागने में जो लड़कियां गिर गयीं, पुलिस ने उनके ऊपर चढ़कर पिटाई की.
पुलिस ने लड़कियों को जहां देखा, वहां पीटा. रोचक बात ये जानिए कि महिला पुलिसकर्मी एक भी नहीं. कई छात्राओं ने रोते हुए यह जानकारी दी हैं. 
 पुलिस बिड़ला हॉस्टल के अंदर घुस गयी है. बिड़ला चौराहे पर लड़कों पर आंसू गैस के गोले और रबर की गोलियां चलायी जा रही हैं. जवाब में छात्रों का एक गुट पत्थर भी चला चुका है .इस सबके बावजूद छात्राएं फिर गेट पर लौट आई और एसएसपी की गाड़ी को घेर लिया है .वे पूछ रही हैं, "हमें मारा क्यों?" और यह भी कि "अब तो जान देकर रहेंगे." इस बीच बनारस हिंदू विश्विद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष चंचल ने इस लाठी गोली के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है .जो पशु संबंधी कार्यक्रम में तो चले गए पर आंदोलन कर रही छात्राओं से न तो मिले न ही एक शब्द बोला .  
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • साफ़ हवा के लिए बने कानून
  • नेहरू से कौन डरता है?
  • चालीस साल पुराना मुकदमा ,और गवाह स्वर्गवासी
  • चार दशक बाद समाजवादी चंचल फिर जेल में
  • भाजपा पर क्यों मेहरबान रहा ओमिडयार
  • ओमिडयार और जयंत सिन्हा का खेल बूझिए !
  • दांव पर लगा है मोदी का राजनैतिक भविष्य
  • कांग्रेस की चौकड़ी से भड़के कार्यकर्त्ता
  • माया मुलायम और अखिलेश भी तो सामने आएं
  • आदिवासियों के बीच एक दिन
  • जंगल में शिल्प का सौंदर्य
  • और पुलिस की कहानी में झोल ही झोल !
  • कभी किसान के साथ भी दिवाली मनाएं पीएम
  • टीपू हिंदू होता तो अराध्य होता ?
  • यह शाही फरमान है ,कोई बिल नहीं !
  • ' लोग मेरी बात सुनेंगे, मेरे मरने के बाद '
  • छतीसगढ़ के सैकड़ों गांव लुप्त हो जाएंगे
  • गांधी और गांधी दृष्टि
  • गांधी और मोदी का सफाई अभियान
  • आजादी की लड़ाई का वह अनोखा प्रयोग
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.