ताजा खबर
नोटबंदी ने तो अर्थव्यवस्था का बाजा बजा दिया महाजन और विजयवर्गीय के बीच घमासान ! और राजस्थान में जाटों ने छोड़ा साथ छतीसगढ़-सतनामी समाज ने भाजपा को दिया झटका
कांग्रेस के आकंठ पाप में डूब गई भाजपा !
अंबरीश कुमार 
बीते करीब चार साल में भाजपा के दोनों शीर्ष नेताओं नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने भारतीय जनता पार्टी को कांग्रेस से भी ज्यादा पतित बना दिया है .हर किस्म धतकरम तो कर ही डाला .ऐसा कोई पाप नहीं बचा जो कांग्रेसियों ने किया हो और इन्होने नहीं किया .अब इनके नेता पर बलात्कार का भी आरोप लग जाता है तो हत्या का भी .चाल ,चरित्र और चेहरा वाली इनके लोग ऐसे नेताओं बचाव ही नहीं करते बल्कि एक बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या जैसे जघन्य अपराध के नर पिशाचों के बचाव में तिरंगा उठा लेते हैं .हम उन अपराधों की बात कर रहे है जो बर्बरता की हद पार करने वाले हैं .यूपी का विधायक सेंगर को तो भूले नहीं होंगे जिसने बलात्कार से भी आगे बढ़कर उस महिला के बाप को थाने से लेकर जेल तक इतना पिटवाया की उसकी मौत हो गई .यूपी का कौन जिम्मेदार नेता और मंत्री नहीं था जो इस अपराधी के बचाव में पूरी बेहयाई से खड़ा नहीं हुआ .
यह बेहयाई और थेथरई ही असली मुद्दा है .भाजपा अब हर मुद्दे पर पूरी बेहयाई के साथ आगे बढ़ रही है .हत्या हो बलात्कार हो या फिर कमीशन के खेल में कभी बच्चों की सांस रोक देने का मामला हो .अब तो कमीशन इतना हो गया कि पुल भी भरभराकर गिर गया .बहुत से लोगों की जान गई .कितने लोगों की जान गई इस संख्या पर सरकार के भीतर ही मतभेद है .प्रदेश का मुखिया कुछ कहता और विभाग का मुखिया कुछ और .ये ऐसे  अमानवीय हादसे में मरे लोगों की संख्या भी नहीं गिन पा रहे .पर कमीशन पूरा हिसाब से गिनते है .यह वह पार्टी थी जो कांग्रेसियों का भ्रष्टाचार गिनाते गिनाते सत्ता में आई थी .कहती थी अच्छे दिन आने वाले हैं .मोदी नारा लगवाते थे ,कहते थे अच्छे दिन .. भीड़ कहती थी ' आने वाले हैं .अच्छे दिन तो आए पर किसके ? नीरव मोदी ,माल्या और मेहुल भाई चौकसी के .अडानी के अंबानी के .खैर अपराध और कारोबार छोड़िये .कारोबार तो इनके खून में है .ताजा मामला तो लोकतंत्र के अंतिम संस्कार का है जो इनका राज्यपाल कर्नाटक में कर रहा है .भाजपा के शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था , “ विधायकों को तोड़कर यदि सत्ता हासिल होती है तो मैं ऐसी सत्ता को चिमटे से भी छूना पसंद नहीं करूंगा.’
और एक आज के भाजपा नेता है जो हर वह काम कर रहे हैं है जिसके लिए सत्तर साल तक कांग्रेस को कोसते थे .अब ये कांग्रेसियों के पाप की गंगा में खुद डूब चुके है .कुछ छोड़ा है .शाखा वाली इस पार्टी में दो और शाखा खुल गई है .राजभवन शाखा और कोर्ट शाखा .बिहार ,मणिपुर और गोवा में अलग चाल तो  कर्नाटक में अलग चाल .  राजभवन में बैठा राज्यपाल तो इनका कारिंदा है .उसी तरह विधायकों की घोडामंडी लगा दिया है जैसा कांग्रेसी राज्यपाल लगाते थे    जैसे धतकरम कांग्रेस ने किए वैसे इन्हें भी तो करना है .पर लोग देख भी रहे हैं कांग्रेस में बदलती नई भाजपा को .
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
Post your comments
Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.