ताजा खबर
बिना बर्फ़बारी के निकल गया पौष रहीम की दास्तान सुनेगा लखनऊ भाजपा के पल्ले व्यंग नही पड़ता इस विरोध को समझें नीतीश जी
हे प्रभु इतनी ऊंचाई न देना !

धनंजय सिंह  

देहरादून .हे प्रभु इतनी ऊंचाई न देना ! अनुष्का शर्मा की दादी उर्मिला शर्मा और नानी चंद्रकांता बडोनी,दोनों देहरादून में ही रहती हैं .शादी की चर्चा के समय दोनों ने देहरादून के अखबारों से कहा था की उन्हें नहीं पता की शादी हो रही है क्योंकि ऐसी कोई बात होगी तो पता चलेगा,बुलावा भी जरूर आएगा.और अब खबर चल रही है की दादी दुखी हैं की रिसेप्शन का भी बुलावा नहीं मिला . हां  हरिद्वार में रहने वाले अनुष्का के गुरूजी के शिष्यों ने जरूर कहा था की कोई शादी करवाने गुरूजी इटली गए हुए हैं. इस साल वन डे क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट जसप्रीत बुमराह ने लिए हैं,जाहिर है वह भी करोड़पति ही है.इस खिलाड़ी के दादा संतोख सिंह उत्तराखंड के उधमसिंह नगर में कुछ समय पहले तक बेहद पकी उमर में भी ऑटो रिक्शा चलाते थे. इसी महीने. अपने इस स्टार पोते से मिलने अहमदाबाद गए थे जहाँ इनसे किसी ने बात नहीं की न ही जसप्रीत का नंबर दिया. 9 दिसंबर को उनकी लाश साबरमती नदी से मिली थी.पुलिस ने आत्महत्या का मामला बताया था.उंचाई  और गहराई में आकाश -पाताल की दूरी है.गौरतलब है कि अनुष्का और विराट कोहली ने प्रधानमंत्री को शादी का न्योता दिया था और मोदी उनकी शादी में शामिल भी हुए .
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • बिना बर्फ़बारी के निकल गया पौष
  • इस विरोध को समझें नीतीश जी
  • भाजपा के पल्ले व्यंग नही पड़ता
  • एअर इंडिया बेचने की तैयारी ?
  • शिवराज को गुस्सा क्यों आया?
  • रहीम की दास्तान सुनेगा लखनऊ
  • चार जजों की चिट्ठी !
  • अंबानी को भी बरी कराया और राजा को भी !
  • पर्यावरण का यह अनुपम आदमी
  • राहुल को भी ज़िन्दगी जीने का हक़ है
  • बर्फ़बारी से बचेंगी हिमालयी नदियां
  • विकास से निकला ऐसा विकलांग बहुमत !
  • घर-आंगन में भी उगाएं सहजन
  • कैसे पार हो अस्सी पार वालों का जीवन
  • अब सबकी निगाह राहुल गांधी पर
  • कश्मीर में सीएम बना नहीं पाया तो कहां बनाएगा ?
  • राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने
  • गुजरात में एक नेता का उदय
  • डगर कठिन है इस बार भाजपा की
  • तिकड़ी से घिरे तो बदल गई भाषा !
  • रेपर्टवा के लिए तैयार हो रहा लखनऊ
  • यहां अवैध शराब ही आजीविका है
  • ये नए मिज़ाज का लखनऊ है
  • इस राख में अभी आग है !
  • जन आंदोलन का चेहरा हैं मेधा पाटकर
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.