ताजा खबर
बिना बर्फ़बारी के निकल गया पौष रहीम की दास्तान सुनेगा लखनऊ भाजपा के पल्ले व्यंग नही पड़ता इस विरोध को समझें नीतीश जी
अंबानी को भी बरी कराया और राजा को भी !

हिमांशु कुमार 

नई दिल्ली .टू जी मामले में अदालत ने जिन आरोपियों को बरी किया है.उनमें डीएमके पार्टी के तत्कालीन मंत्री ए राजा और तमिलनाडु के भूतपूर्व मुख्यमंत्री करूणानिधि की बेटी कनिमोझी मुख्य हैं.इसके अलावा बचने वालों में पूंजीपति अनिल अंबानी , रूईया वगैरह भी शामिल हैं.ये लोग जो बरी हुए हैं वे मोदी सरकार की मदद से बरी हुए हैं.मोदी सरकार को इन लोगों को सज़ा दिलाने में कोई भी फायदा नहीं था.बल्कि मोदी सरकार को इन लोगों के जेल जाने से बड़ा नुकसान हो सकता था.इन्हीं पूंजीपतियों के पैसे से चुनाव जीता जाता है और सत्ता मिलती है.इसलिए पूंजीपतियों को तो बचाना ही था क्योंकि वह तो सरकार के माई बाप हैं.दूसरी तरफ इस मामले का जितना भी फायदा भाजपा उठा सकती थी.वह भाजपा पहले ही शोर मचा कर सत्ता पाकर उठा चुकी थी.अब अगर डीएमके पार्टी ये दो नेता जेल चले भी जाते तो भाजपा को उससे कोई भी फायदा अब मिलने वाला नहीं था.इसलिए सीबीआई जो प्रधानमंत्री के मातहत काम करती है.उसने इस केस में आरोपियों के खिलाफ अदालत को सबूत देने बंद कर दिए.इस तरह अदालत को मजबूरन आरोपियों को बरी करना पड़ा.अदालत ने सीबीआई को इस बात के लिए डांट भी लगाई है.साफ़ तौर पर मोदी सरकार ने इन सभी को जान बूझ कर बचाया है.
अब आप ध्यान से देखते रहिएगा कि तामिलनाडू में अगले विधान सभा चुनाव भाजपा डीएमके पार्टी के साथ मिल कर लडेगी.इसी डील के साथ मोदी सरकार ने डीएमके के दोनों नेताओं को इस मामले में बचाया है.हम सब जानते हैं कि तामिलनाडू में बारी बारी डीएमके और एआइडीएमके की सरकार बनती है.अभी वहाँ एआइडीएमके की सरकार है.यानी अबकी बार सरकार बनाने की बारी डीएमके की है.इसलिए मोदी सरकार ने डीएमके के साथ यह डील करी है
भाजपा दक्षिण भारत में हमेशा कमजोर ही रही है.दक्षिण भारत में अपनी सरकार बनाने के लिए भाजपा केरल में बम बनाना और विरोधी कार्यकर्ताओं की हत्या करने में लगी रहती है.लेकिन भाजपा की दाल दक्षिण भारत में कभी नहीं गली
डीएमके पार्टी के साथ इस डील के बाद भाजपा की डीएमके के साथ सरकार में शामिल होने की संभावना बन गई है.जो लोग यह समझ रहे हैं कि भाजपा भ्रष्टाचार दूर करेगी.उन्हें बड़ी निराशा होगी क्योंकि भाजपा की लड़ाई सिर्फ सत्ता के लिए है.भाजपा भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने लगी तो उसे कभी सत्ता नहीं मिलेगी.
 
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • बिना बर्फ़बारी के निकल गया पौष
  • इस विरोध को समझें नीतीश जी
  • भाजपा के पल्ले व्यंग नही पड़ता
  • एअर इंडिया बेचने की तैयारी ?
  • शिवराज को गुस्सा क्यों आया?
  • रहीम की दास्तान सुनेगा लखनऊ
  • चार जजों की चिट्ठी !
  • हे प्रभु इतनी ऊंचाई न देना !
  • पर्यावरण का यह अनुपम आदमी
  • राहुल को भी ज़िन्दगी जीने का हक़ है
  • बर्फ़बारी से बचेंगी हिमालयी नदियां
  • विकास से निकला ऐसा विकलांग बहुमत !
  • घर-आंगन में भी उगाएं सहजन
  • कैसे पार हो अस्सी पार वालों का जीवन
  • अब सबकी निगाह राहुल गांधी पर
  • कश्मीर में सीएम बना नहीं पाया तो कहां बनाएगा ?
  • राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने
  • गुजरात में एक नेता का उदय
  • डगर कठिन है इस बार भाजपा की
  • तिकड़ी से घिरे तो बदल गई भाषा !
  • रेपर्टवा के लिए तैयार हो रहा लखनऊ
  • यहां अवैध शराब ही आजीविका है
  • ये नए मिज़ाज का लखनऊ है
  • इस राख में अभी आग है !
  • जन आंदोलन का चेहरा हैं मेधा पाटकर
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.