ताजा खबर
साफ़ हवा के लिए बने कानून नेहरू से कौन डरता है? चालीस साल पुराना मुकदमा ,और गवाह स्वर्गवासी चार दशक बाद समाजवादी चंचल फिर जेल में
बालीबुड के दिग्गजों ने खींचा हाथ

राजकुमार सोनी 
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से जुड़े कुछ बिल्डरों ने हाल के दिनों में बड़े ही सोचे-समझे ढंग से यह प्रचारित किया है कि फिल्म स्टार शाहरुख खान की कंपनी केसरा-सरा एक शापिंग काम्प्लेक्स का निर्माण करने जा रही है। कंपनी का शापिंग काम्प्लेक्स निर्मित हो पाएगा या नहीं यह भविष्य के गर्भ में है लेकिन हकीकत यह है कि स्टूडियों व अन्य निर्माण के लिए जमीन की खरीद-फरोख्त में लगे रहने वाले बालीबुड के कुछ दिग्गजों ने फिलहाल अपना कदम पीछे हटा लिया है।
छत्तीसगढ़ के एक बड़े हिस्से में इन दिनों शापिंग काम्प्लेक्स और मॉल तैयार हो रहे है। कार्पोरेट सेक्टर से जुड़े लोगों का यह दावा है कि छत्तीसगढ़ में विदेशी कंपनियों के साथ ही बालीबुड की दिग्गज हस्तियां भी पूंजी निवेश करने में रूचि दिखा रही है। कार्पोरेट सेक्टर से जुड़े लोगों का यह दावा कुछ हद तक सही भी हो सकता है। बालीबुड की दिग्गज हस्तियों ने छत्तीसगढ़ में स्टूडियों व अन्य निर्माण के लिए जमीनों की खरीदी में रूचि तो दिखाई थी लेकिन विवादों के चलते अमूमन सभी दिग्गजों ने अपना हाथ खींच लिया है। छत्तीसगढ़ी फिल्मों के चलन के बाद भाजपा नेता एवं प्रसिद्ध फिल्म स्टार शत्रुघ्न सिन्हा यहां पुराने धमतरी मार्ग पर स्थित एक बेशकीमती जमीन पर स्टूडियों बनाना चाहते थे। स्टूडियों के निर्माण के लिए प्रोजेक्ट तैयार हो ही रहा था कि इस बीच जमीन के कारोबार से जुड़े कतिपय लोगों की आपत्ति सामने आ गई। विवाद के बाद श्री सिन्हा ने स्टूडियों के निर्माण का फैसला बदल दिया। चर्चित सिने अभिनेत्री श्रीदेवी और उनके पति बोनी कपूर ने भी आरंग मार्ग पर स्टूडियों के निर्माण के लिए एक जमीन खरीदने का फैसला कर लिया था। इससे पहले की बात आगे बढ़ पाती जमीन से जुड़े एक अन्य कारोबारी का अड़ंगा सामने आ गया। विवाद के बाद कपूर दंपत्ति को भी पीछे हटना पड़ा। प्रसिद्ध संगीतकार और विजयेता पंडित के पति आदेश श्रीवास्तव के रिश्तेदार यहां रायपुर के समता कालोनी में निवास करते हैं। रिश्तेदारों के सुझाव के बाद श्री श्रीवास्तव ने भी धमतरी मार्ग पर दस एकड़ जमीन खरीदने का मन बना लिया था लेकिन खबर है कि जो जमीन उन्होंने देखी थी उसे लेकर विवाद खड़ा हो गया है। विवाद के बाद श्री श्रीवास्तव ने भी स्टूडियों निर्माण का विचार त्याग दिया है। सिने कलाकार अन्नु कपूर ने भी कांग्रेस के एक दिग्गज नेता के साथ साझेदारी में बिलासपुर चांपा मार्ग पर जमीन खरीदने का फैसला किया था। जमीन खरीदने की पूरी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए श्री कपूर की करीबी सीमा कपूर लगातार छत्तीसगढ़ आती-जाती रही लेकिन इधर खबर है कि स्टूडियों के प्रोजेक्ट में उनकी रूचि भी कम हो गई है। कुछ समय पहले फिल्म अभिनेता मुकेश खन्ना ने भी मुख्यमंत्री से मुलाकात कर यहां सिलतरा के पास जमीन देने की मांग की थी। उनका प्रोजेक्ट भी अभी मूर्तरूप नहीं ले पाया है।
भू-माफियाओं का रोड़ा
यह सच है कि राजधानी और उसके आसपास इलाके की तस्वीर बड़ी तेजी से बदल रही है। राष्ष्ट्रीय राजमार्ग पर टे्जर आईलैण्ड का निर्माण किया जा रहा है तो किसी क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त बिजनेस सेंटर भी निर्मित हो रहा है। राज्य निर्माण के बाद से ही यहां जमीन का कारोबार करने वाले लोगों के बीच आपसी प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है। इस प्रतिस्पर्धा के चलते उनमें आपस में ही मनमुटाव भी होता है। छत्तीसगढ़ में निवेश करने वाले लोग यदि किसी एक कारोबारी के जरिए आगे बढ़ते है तो दूसरा कारोबारी प्रोजेक्ट में अड़ंगा लगाना शुरू कर देता है। बालीबुड के वे दिग्गज जो छत्तीसगढ़ में स्टूडियों का निर्माण करना चाहते थे उनका प्रोजेक्ट अड़ंगों के चलते ही ठंडे बस्ते में चला गया है।
 

email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
Post your comments
Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.