ताजा खबर
शुजात को पर्याप्त सुरक्षा नहीं दी गई थी जानिए,कब-कब हुआ जान का खतरा ? छत्तीसगढ़ में 'मोदी गो बैक' के नारे महाराज ,सरकार में तो छूंछीचोर भी मंत्री हैं !
Election
उत्तर भारत पूर्वोत्तर भारत दक्षिण भारत
मै संघी बनते बनते रह गया !
मै

अंबरीश कुमार 

यह एक रोचक किस्सा है .कैसे बच्चों का दिमाग प्रदूषित किया जाता है और क्या से क्या बन जाते है .बहुत छोटा था .साठ का दशक    विस्तृत....

शुजात को पर्याप्त सुरक्षा नहीं दी गई थी
शुजात

के विक्रम राव 

नई दिल्ली . राइजिंग कश्मीर और उर्दू अख़बार बुलंद कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या को लेकर तरह तरह के सवाल उठ रहे हैं .शुजात की हाल की सयुंक्त राष्ट्र की रपट पर की गई टिपण्णी से अलगाववादी नाराज थे .सरकार को यह जानकारी थी इसके बावजूद उन्हें पर्याप्त  विस्तृत....

जनादेश-2017
चिनार! तौबा..यह आग !
चिनार!

अग्निशेखर

"चिनार ...!.. चि..नाऽ...र..!माशाऽअल्ला , यह आग...!कभी सैंकडों वर्ष पहले मध्य एशिया से आए जिस भी यात्री या शासक ने कश्मीर घ  विस्तृत....
जानिए,कब-कब हुआ जान का खतरा ?
जानिए,कब-कब

गिरीश मालवीय 
नई दिल्ली . हाल ही में  अचानक न्यूज़ चैनल पर बड़े अक्षरों में हेडलाइन तैरने लगी..'पीएम मोदी को जान का खतरा' 'मोदी की हत्या की गहरी साजिश बेनकाब'.आखिर मे पता लगा कि एक सादे कागज पर अंग्रे  विस्तृत....

छत्तीसगढ़ में 'मोदी गो बैक' के नारे
छत्तीसगढ़

 केपी साहू

 रायपुर .छतीसगढ़ से शुरुआत हो गई है .नरेंद्र मोदी वापस जाओं के नारे इस राज्य की सडकों पर लिखे जा चुके हैं .यह संकेत है प्रदेश में राजनैतिक बदलाव का .सत्ता के लिए जनता से किए गए वायदे अब खुद सर  विस्तृत....

महाराज ,सरकार में तो छूंछीचोर भी मंत्री हैं !
महाराज

शंभूनाथ शुक्ल

नई दिल्ली .पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव अपना सरकारी बंगला ख़ाली करते समय नलों की टोंटी ले गए, स्वीमिंग पूल ले गए, काठ का फ़र्श ले गए, सीलिंग फ़ैन, एसी और बिजली के स्विच ले गए. ऐसा प्रचारित कर  विस्तृत....

देशभक्तों का महान संगठन ?
देशभक्तों

प्रभाष जोशी 

अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपने को देशभक्तों का महान संगठन कहे और देश पर जान न्योछावर करने वालों की सूची बनाए तो यह बड़े मज़ाक का विषय है. सन् १९२५ में संघ की स्थापना करने वाले डॉक्टर केशव बलिरा  विस्तृत....

तीसरे मोर्चे के गुब्बारे की हवा निकालेंगे प्रणब ?
तीसरे

अरुण कुमार त्रिपाठी
नई दिल्ली .पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का नागपुर संघ मुख्यालय में जाना और संघ शिक्षा वर्ग को संबोधित करना क्या महज विचार मंथन और संवाद की प्रक्रिया की शुरुआत है या कुछ और? सूत्रों की मा  विस्तृत....

लोहिया, आंबेडकर और चरण सिंह की अंगड़ाई
लोहिया,

अरुण कुमार त्रिपाठी

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता लाख कहें कि कैराना और नूरपुर उपचुनाव में उनकी हार स्थानीय मुद्दों के कारण हुई है लेकिन हकीकत यह है कि इस चुनाव में डा राममनोहर लोहिया, आंबेडकर और चरण सिंह की विर  विस्तृत....

पर्यावरण
जहां नदी लगती है यमुना
जहां
अंबरीश कुमार 
कांदिखाल से करीब चालीस मिनट में हम यमुना पुल तक पहुंच गये .आगे चकराता के रास्ते पर जाना था .कुछ दूरी के बाद ही हिमाचल की सीमा आ जाती है .यमुना पुल से पहले यमुना का विहंगम द  विस्तृत....
पर्यटन
जन्नतुलफिर्दोस है ज़मीं पे दिहांग दिबांग
जन्नतुलफिर्दोस
देवेन मेवाड़ी 
हमारे मुल्क के मशरिकी हिस्से में एक खूबसूरत सूबा है- अरूणाचल प्रदेश. मशरिकी हिस्से में होने की वजह से सूरज अपनी रोशनी की चादर सबसे पहले  विस्तृत....
कला/सिनेमा
दरवाजे पर हॉलीवुड
दरवाजे

हरि मृदुल

वाकई फिल्मी परिदृश्य तेजी से बदल रहा है. हॉलीवुड ने हिंदुस्तान में अपने लिए बड़ी संभावनायें तलाश करनी   विस्तृत....
राजनीति
सोशल मीडिया के मूर्ख ......
सोशल

हरि शंकर व्यास

इसलिए कि मुझे नया इंडिया को हल्का, बेरंग बनाना पड़ा है  विस्तृत....
Onlinenewspapers - the worlds 

largest online newspaper directory
Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.